About us - Privacy Policy - Disclaimer - Contact us - Guest Posting - Income Reports

शिक्षा का महत्त्व : Motivational Story On Education


शिक्षा का महत्त्व

Importance Of Education Motivational Story On Education In Hindi

 

गरीब किसान और उसकी बद्धिमान बेटी

 

Motivational story education hindi

बहुत समय पहले की बात है।एक गांव में एक गरीब किसान अपने एकलौती पुत्री के साथ रहता था।गरीबी का आलम ऐसा था कि हजारो रुपये का कर्ज होंने के साथ साहूकार के पास घर तक गिरवी रखा हुआ था।किसान के अथक परिश्रम करने के बाद भी किसी तरह से दो जून की रोटी नसीब हो पाता था।आये दिन साहूकार के आदमी किसान को मारते पिटते और घर में जो भी पैसा होता उसे ले जाते।

फिर भी किसी तरह से किसान अपने बेटी को पढ़ा लिखा कर शिक्षित कर रहा था।क्योंकि किसान इस बात को जानता था कि शिक्षित व्यक्ति किसी भी समस्या का समाधान अपने दिमाग से आसानी से निकाल सकते हैं।

 

साहूकार गरीबों को पैसा उधार देता और बदले में कम पढ़े लिखे लोगों को बेवकूफ बना कर उनसे ब्याज के रूप में मोटी रकम ऐंठता था।गांव के सभी लोग साहूकार के व्यवहार से परेशान थे,पर कर भी क्या सकते थे क्योकि पैसे की जरुरत पड़ने पर साहूकार ही मदद करता था।

 

एक दिन साहूकार अपने हवेली पर किसान और उसकी बेटी को बुलाता है और एक प्रस्ताव रखता है कि तुम अपने बेटी की शादी मुझसे कर दो और बदले में तुम्हारा सारा कर्ज माफ़ कर दूंगा।

 

इस प्रस्ताव को सुनकर किसान के पैरों तले ज़मीन खिसक गयी।इस तरह के किसी भी प्रस्ताव की आशा नहीं किया जा सकता था क्योकि दोनों के आयु में जमीन आसमान का अंतर था साहूकार की उम्र करीब साठ साल और किसान के बेटी की उम्र बीस साल।

 

किसान और उसकी बेटी इस proposal से काफी घबरा गये।उनकी घबराहट को देखते हुये चतुर साहूकार ने किसान से कहा कि हम इसका हल आसानी से निकाल सकते है।इसके लिए हमें एक खेल खेलना होगा-

 

” मैं एक खाली बैग में काला और एक सफ़ेद कंकड़ डालूंगा।तुम्हारी लड़की को एक कंकड़ बाहर निकालना होगा अगर सफेद कंकड़ बाहर निकालती है तो उसे मुझसे शादी करना पड़ेगा और बदले में तुम्हारा सारा कर्ज माफ़ कर दिया जायेगा।अगर वो काला कंकड़ बाहर निकालती है तो उसे शादी नहीं करना पड़ेगा फिर भी तुम्हारा सारा कर्ज माफ़,लेकिन अगर उसने कंकड़ निकालने से मना किया तो तुम्हे सौ कोड़े लगाये जायेंगे और फिर जेल में डाल दिया जायेगा। “

 

सभी पास के एक खेत में गये जहा बहुत सारे कंकड़ पड़े थे।साहूकार निचे कंकड़ उठाने के लिए झुका,किसान की लड़की ने नोटिस किया कि साहूकार ने बहुत ही सफायी से दोनों ही सफेद कंकड़ उठा कर बैग में रख दिया।उसके बाद बैग को लड़की की तरफ आगे बढ़ा दिया।

 

यह तो वैसी ही परिस्थिति हो गयी कि ” प्यास लगी हो और पानी में जहर हो। पानी पियें तो भी मरे ना पियें तो भी मरे। “

मतलब हर हालत में बैग से सफेद ही कंकड़ निकालना है ,और सफेद कंकड़ का बैग से निकलने का आशय है ना चाहते हुये भी साहूकार से शादी करना।

 

अगर आप ऐसी situation में होते तो क्या करते…….कोई उपाय सूझ रहा है ,जिससे किसान की बेटी का help कर सकते हैं ??? नहीं ना……

 

अब मैं बताता हूं कि किसान की शिक्षित बेटी ने अपने दिमाग का इस्तेमाल करते हुए क्या कदम उठाया…..

 

उसने अपना हाथ बैग में डाला और बिना देखे ही कंकड़ को बाहर फेंक दिया ,बाहर पहले से मौजूद बहुत सारे कंकड़ में मिल कर बैग से फेका हुआ कंकड़ गायब हो गया।जहाँ से बैग वाले कंकड़ को ढूंढ कर पहचानना नामुनकिन था।यह activity इतना तेजी में हुआ कि किसी को कुछ भी सोचने समझने का समय नहीं मिला।

 

इसके बाद लड़की ने कहा माफ़ करिये ये क्या हो गया ! पर आप लोग चिंता ना करें बैग में बचे दूसरे कंकड़ को देख कर हम अब भी पता कर सकते हैं कि मैंने किस रंग के कंकड़ को बाहर फेंका है।☺

 

अन्दर check किया गया तो सफ़ेद कंकड़ मिला(जो मिलना ही था क्योकि साहूकार ने दोनों सफ़ेद कंकड़ ही रखे थे ,जो किसान की लड़की ने फेंका और जो बैग में बचा था ) जिसका सब ने यही मतलब निकाला की किसान की बेटी ने कंकड़ फेका वो जरूर ही काला कंकड़ रहा होगा। इस तरह से किसान की लड़की के बुद्धिमानी के कारण उसे शादी भी नहीं करना पड़ा और साथ में सभी कर्ज भी माफ़ हो गया।

 

इस तरह से हमने देखा कि किसान की बुद्धिमान बेटी ने किस तरह से अपने विवेक का उपयोग करके समस्या का सही समाधान निकाला।

 

Moral Of This Motivational Story On Education-

दोस्तों शिक्षा का हमारे जिंदगी में एक अहम् योगदान होता है।इससे हमारे सोचने समझने की क्षमता में विकास होता है।एक शिक्षित व्यक्ति किसी भी परिस्थितियों का सामना अपने विवेक से कर सकता है।

 

 

 

 

 

अगर आपको शिक्षा का महत्त्व :Motivational Story On Education-किसान और उसकी बुद्धिमान लड़की पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करें।

आपको यह मोटिवशनल स्टोरी ऑन एजुकेशन कैसा लगा comment के माध्यम से हमें सूचित करें।हमें आपके प्रतिक्रिया का इंतजार है।

अगर आपके पास भी कोई motivational story है तो हमें mail कर सकते हैं।पसंद आने पर हम आपके नाम और फोटो के साथ आपके आर्टिकल को publish करेंगे।

 

 

धन्यवाद्।

ये भी पढ़े-

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

Subscribe Us Via Email

Content Delivery By Success Veda

Comments

  1. By Ashish Kumar

    Reply

    • By Vishnu Kant Maurya

      Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *