About us - Privacy Policy - Disclaimer - Contact us - Guest Posting - Income Reports

सीखो और कमाओ – Learn And Earn Hindi Story

आज हम जो कहानी आपको बताने जा रहे है उसका नाम है सीखो और कमाओ – learn and earn motivational story इस inspirational कहानी को पढ़कर आप ये समझ जाएंगे की कमाने से पहले उस काम को पूरी तरह से सिख लेना चाहिए। अपने काम में पारंगत होने पर धन अपने आप आता है। तो चलते है हमारे hindi motivation story के तरफ।

learn-and-earn-sikho-aur-kamao-story-compressed

सीखो और कमाओ

सीखो और कमाओ – learn and earn motivational story

बार एक गाँव में राम और शाम नाम के दो बच्चे रहते थे जो की बहूत अच्छे दोस्त भी थे। वो साथ साथ खेलते, साथ साथ स्कूल भी जाते। उनकी दोस्ती भी बहूत गहरी थी।

कुछ दिन बाद राम और शाम ने 12th पूरा करके एक ही कॉलेज में admission लिया। और वहां से अपना ग्रेजुएशन पूरा कर लिया।

जैसे ही राम और शाम का ग्रेजुएशन पूरा हुआ वो दोनों पढाई छोड़कर किसी नौकरी की तलाश में लग गए। बहूत दिनों तक वो किसी अच्छी नौकरी की तलाश में थे पर उन्हें कोई नौकरी नहीं मिल रही थी।

आख़िरकार कुछ दिनों बाद दोनों ने एक होलसेल कंपनी में जॉब पकड़ ली। और वो हर रोज काम पर जाने लगे। राम और शाम को उस कंपनी से ज्यादा अछा वेतन तो नहीं मिलता था पर नौकरी न होने से तो अछा ही है ऐसा समझकर काम चल रहा था। और दोनों प्रतीक्षा में थे की कब उन्हें बाडतर्फी मिलेगी और उनका वेतन बढ़ जायेगा।

दोनों रोज ऐसे ही कंपनी में जी तोड़ मेहनत कर रहे थे। समय बीतता गया। और कुछ महीनो के बाद मेनेजर ने राम को अपने ऑफिस में बुलाया। शाम को थोड़ी हिचकिचाहट होने लगी क्यू की ऐसा पहली बार हुआ था की राम को अकेले बुलाया गया था जब की कोई काम हो तो राम और शाम को हमेशा साथ बुलाया जाता था।

शाम बाहर आश्चर्य से राम का इंतज़ार कर रहा था। और मन ही मन सोचे जा रहा था कि आखिर अंदर क्या बातचीत चल रही होगी।

थोड़ी देर बाद राम मैनेजर के ऑफिस से हँसते हँसते और बड़े ख़ुशी के साथ भागता हुआ बाहर आता है और अपने दोस्त शाम के गले लग जाता है। तो उसपर शाम पूछता है कि आखिर अंदर ऐसी क्या बात हुयी की तुम इतने खुश हो! उसपर राम ने बताया कि मुझे प्रोमोशन मिल गया है और अब मुझे दो गुनाह वेतन मिलेगा। इस बात को सुनकर शाम को एक तरफ अपने दोस्त के लिए बहूत ख़ुशी हो रही थी वही दूसरी तरफ खुद को प्रोमोशन न मिलने के लिए बहूत दुःख हो रहा था।

शाम ने राम को बधाई दी और वहां से निकल पड़ा। शाम बस चलते ही जा रहा था। और चलते चलते उसके मन में विचारो का तूफान था कि मेरे घरवाले क्या कहेंगे अगर उन्हें ये पता चलेगा की मुझे exams में ज्यादा मार्क्स होते हुए भी राम आज मुझसे ज्यादा वेतन ले रहा है। मेरी तो कोई इज्जत नही बचेगी। ऐसे बहूत से अजीब अजीब विचार आ रहे थे शाम के मन में…

आखिर शाम ने फैसला कर लिया की अब वो उस कंपनी में काम नहीं करेगा जहा उसके hard work की किसी को कदर नहीं है। और वो तेजी से मैनेजर के ऑफिस की तरफ जाने लगा। और जब वो ऑफिस पहुचा तो उसने देखा की मेनेजर भी राम की तारीफ कर रहा है। ये देखकर तो शाम का और भी पारा चढ़ गया।

थोड़ी देर बाद जैसे ही राम वहां से चला गया वैसे ही फट से शाम मैनेजर के ऑफ़िस में घुस गया और में ये जॉब छोड़ रहा हु ऐसा बोला। जब मैनेजर ने कारन पूछा तो शाम ने अपने अंदर की साडी भड़ास निकाल दी और मैनेजर को सब कुछ बता दिया।

मेनेजर को भी शाम की बात सही लगी और उसे भी पता था की शाम भी राम की तरफ बहूत मेहनत करता है।

मैनेजर ने शाम को एक सवाल पूछा की अभी बाजार में तरबूज है? शाम ने कहा.. हा है!

फिर मेनेजर ने तरबूज का दाम पूछा तो दाम पता करने के लिए शाम बाजार गया और थोड़ी देर में वापस आकर मैनेजर को बोला की अभी 90 रु दाम चल रहा है।

उसपर मैनेजर ने शांति से शाम को बताया कि यही सवाल मैंने राम से भी पूछा था तो इसपर उसका जवाब था –

सिर्फ एक ही व्यक्ति तरबूज बेच रहा है जिसकी कीमत एक ले तो 90 रूपए 10 ले तो 700 रूपए वही 20 ले तो 1300 रु में दे रहा है। उसके दुकान पर अभी कुल 248 तरबूज है। जो की लाल और अच्छे क्वालिटी के है। और हर एक तरबूज का वजन तकरीबन 1kg होगा।

मैनेजर की ये बात सुनकर शाम एकदम शांत हो गया और उसे अपनी गलती और कमी का अहसास हो गया। अब उसके मन का गुस्सा ठंडा हो चूका था और वो काम छोड़ने की बात को भूलकर फिरसे अपना काम करने चला गया क्यू की उसे अब पता चल गया था कि जो हुनर राम के पास है वो उसके पास नही था।

दोस्तों हमारे साथ भी ऐसा ही होता है। हम भी बिना कुछ सीखे जल्दी से जल्दी और ज्यादा से ज्यादा पैसा कमाना चाहते है। पर अगर हम पहले उस काम को अच्छी तरह से सिख ले तो पैसा अपने आप आपके पास आ जायेगा। इसीलिए पैसे के पीछे मत भागिए और अपना काम करते रहिए.. अगर आप ऐसा करते है तो एक दिन पैसा आपके पीछे भागेगा।

Related Motivational Articles –

If you like this motivational story then please share this with your friends

Subscribe Us Via Email

Content Delivery By Success Veda

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *