About us - Privacy Policy - Disclaimer - Contact us - Guest Posting - Income Reports

जिंदगी में हमेशा खुश रहने का राज प्रेरणादायक कहानी

खुश रहने का राज/Secret of happiness hindi story

 

Stay happy in life

शनिवार की शाम मधु अपने ऑफिस से काम कर के लौट रही थी।सड़क पर सैकड़ों मोटर-गाड़िया दौड़ रही थी,चारो तरफ काफी रौनक था।थोड़ी दूर जाने के बाद अचानक से मधु की कार बंद हो गयी। मधु ने काफी प्रयास किया पर कार start नहीं हो रही थी।

कार से निकल कर आस -पास देखा पर कोई car repairing की दुकान नहीं दिखा।मधु की परेशानी उसके चेहरे पर झलक रही थी।

सड़क के दूसरे किनारे पर नितेश नाम का एक लड़का मधु को परेशान देख कर पास आया,और बोला क्या हुआ मैडम आप काफी परेशान लग रही है।

मधु पहले तो घबरायी पर नितेश की सज्जनता को देख कर आश्वस्त होते हुई बोली – मेरी कार अचानक से बंद हो गयी है और आस पास कोई रिपेयरिंग की दुकान भी नज़र नहीं आ रहा।

नितेश बोला आप चिंता ना करें मैं देखता हूँ।उसने कार open किया fault को चेक किया और उसे  सही कर दिया।

मधु के चेहरे पर परेशानी की जगह मुस्कराहट ने ले लिया था।कार के सही तरीके से काम करने पर खुश होकर मधु ने कहा आपके कितने रुपये होते हैं ?

नितेश ने कहा मैडम मैं कोई मेकैनिक नहीं हूँ ।मेरा ये प्रोफेशन नहीं है इसलिये मैं ये पैसे नहीं ले सकता।मुझे थोड़ा-बहुत इन सब का नॉलेज था , आपको परेशानी में देखकर सोचा की शायद आपकी कोई मदद कर सकता हूँ।

मेरी भी जरुरत पड़ने पर किसी ने मदद किया था और कहा था कि तुम भी किसी जरूरतमंद की मदद कर देना और उनसे भी कहना कि किसी जरूरतमंद की मदद कर के इस खुशी के श्रृंखला को आगे बढ़ाये।यही मेरे लिए सबसे बड़ा reward होगा।इतना कह कर नितेश वहाँ से चला गया।

मधु ने दिल से thanks बोला कार स्टार्ट किया और पास के एक होटल में गयी। वहाँ कोने की एक कुर्सी पर बैठ गयी।एक महिला आर्डर लेने आयी, देखने से वो 7 या 8 महीने की pregnant थी लेकिन उसके चेहरे पर अजीब सी मुस्कान थी जो किसी के भी दिल को मोह ले।उसने आर्डर लिया और चली गयी।

खाना खाने के बाद मधु ने बिल का amount टेबल पर रखा और वहां से चली गयी।थोड़ी देर बाद प्रेगनेंट महिला ने देखा कि टेबल पर पैसों के साथ एक extra लिफाफा भी है।

लिफाफा खोल कर देखा तो उसमे कुछ रुपये और एक कागज पर कुछ लिखा था।

कागज पर जो कुछ लिखा था वो इस प्रकार है-

“तुम देखने में लगभग 7 महीने की प्रेग्नेंट हो।लेकिन फिर भी काम कर रही हो,इसका मतलब तुम्हे पैसे की जरुरत है।इस लिफाफा में कुल 10000 रुपये है।ये पैसा तुम अपने पास रख लो। किसी ने मेरी निःस्वार्थ भाव से मदद किया था और बोला था की तुम भी किसी की अपने तरीके से मदद करना और उसे भी आगे किसी की मदद करने के लिए बोलना।और इस खुशी की श्रृंखला को आगे बढ़ाना।”

उस प्रेग्नेंट महिला जिसे पैसे की बहुत जरुरत थी ,पैसा देख कर उसकी आँखें नम हो गयी और उसने दिल से धन्यवाद दिया।

काम खत्म होने पर जब वो घर गयी,तो रोज की तरह आज भी उसके पति के चेहरे पर पैसे का इंतजाम ना हो पाने के कारण मायूसी थी।उसने अपने पति को गले लगाया और बोली कि अब तुम delivery की चिंता मत करो पैसों का इन्तजाम हो गया है।

I love you my husband…..

I love you….

Love you Nitesh…..☺

इसके बाद उसने अपने साथ होटल मे घटित सारी घटनाये पूरी विस्तार से बताया।और बताते बताते रोने लगी।पूरी बात सुन कर नितेश की आँखे भी भर आयी।उसने कभी सपने में भी नहीं सोचा था कि ऐसा भी हो सकता है।

दोस्तों अगर आप किसी के जिंदगी में एक पल के लिए भी खुशी ला सकते है चाहे अपना समय देकर,पैसा देकर,अपने talent से हेल्प कर के या कोई भी ऐसा काम कर के जिससे अगर मायूस चेहरे पर खुशी आ सके तो वो काम जरूर करना चाहिये।

जिंदगी में खुश रहने का सबसे बड़ा राज यही है कि आप जितने लोगो की सहायता कर सकते है निःस्वार्थ भाव से करते जाइये।

अगर हम किसी की सहायता दिल से करते है बिना किसी छल कपट के तो हमारे साथ भी अच्छा ही होगा कभी भी बुरा नहीं होगा।

 

दोस्तों आपको जिंदगी में हमेशा खुश रहने का राज motivational story in hindi कैसा लगा comment करके हमें जरूर बताये।

आप अपने दोस्तों को Facebook , whatsapp या अन्य social networking साईट पर भी share करें।

 

ये भी पढ़े-

Subscribe Us Via Email

Content Delivery By Success Veda

Comments

  1. By Khushal kumbhar

    Reply

    • By Vishnu Kant Maurya

      Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *