अच्छे व्यक्तियों के साथ ही हमेशा बुरा क्यों होता है? Shrimad Bhagwat Geeta Reference

अक्सर लोगों को लगता है कि मैं तो सबके साथ अच्छा करता हूँ फिर भी मेरे साथ बुरा होता है.अगर आप भी उनमे से एक हैं तो इसमें कोई बड़ी बात नहीं है.

आज हम यही जानने की कोशिश करेंगे कि आखिर ऐसा क्यों होता है जो सबके साथ अच्छा करता है उसके साथ बुरा होता है या ऐसा प्रतीत होता है की उसके साथ बुरा हो रहा है.

इसके लिए हम श्रीमद भागवत गीता में भगवान कृष्ण ने इसका क्या कारण बताया है यह जानेंगे साथ ही एक कहानी के माध्यम से इसे अच्छे से समझने की कोशिश करेंगे.

अच्छे के साथ बुरा क्यों होता है – श्रीमद् भागवत गीता

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *